श्री रोशन लाल जैन सर्वहितकारी विद्या मंदिर में मातृ सम्मेलन का आयोजन

Mr. Fakir Chand appointed as Chairman of newly Management Committee

अडॉप्ट टू एजुकेट योजना में आगे आते शिक्षा प्रेमी

अबोहर 22 अप्रैल श्री रोशनलाल जैन सर्वहितकारी विद्या मंदिर में शिक्षा समिति गरीब बच्चों की पढ़ाई के लिए सदा प्रयत्नशील रहती है। इस कार्य के लिए समिति की ओर से   ‘अडाॅप्ट टू एजुकेट’ योजना चलती है ।इस कार्य में सक्षम संवेदनशील वर्ग की ओर से पूर्ण सहयोग मिलता रहता है। इस कड़ी में आज श्री रोशनलाल जैन सर्वहितकारी विद्या मंदिर अबोहर स्कूल के चेयरमैन श्री धनपत सियाग जी एवं स्कूल के कमेटी मेंबर रामपाल जी द्वारा छात्र- बकुल( पिता- छिन्द्रपाल )को अडॉप्ट किया। जिसमें बच्चों को +2 तक की पढ़ाई का कार्यभार अपने उपर लिया है।। श्री धनपत सियाग जी और श्री रामपाल जी कहा कि इस पवित्र कार्य में वह आगे भी योगदान देते रहेंगे ।स्कूल के प्रधानाचार्य श्रीमती किरण  तिंना जी ने निश्चल और निस्वार्थ सेवा भाव के लिए सर्वहितकारी शिक्षा समिति की ओर से धनपत सियाग का धन्यवाद किया

Guru Purnima

Hawan

अबोहर फाजिल्का रोड पर स्थित श्री रोशनलाल जैन सर्वहितकारी विद्या मंदिर में आज  9 मार्च 2021 को

Way to brain (D.M.I.T  PVT.LTD.)  इंटरनेशनल ऑपरेशन कॉर्पोरेट डेवलपमेंट एंड ट्रेनिंग यूनिट ग्रुप के प्रेसिडेंट डॉक्टर सोमन मैनी जी पधारे। PSYCHOLOGY (मनोविज्ञान ), MBA (मानव संसाधन), NATUROPATHY,  NUTRITION, कर चुके डॉक्टर मैनी जी ने अपनी बातों से बच्चों अध्यापकों और उपस्थित अतिथियों में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह करते हुए कहा कि किस प्रकार आंखों पर पट्टी बांधकर हम अपनी ज्ञान इंद्रियों द्वारा चीजों को समझ सकते हैं। उन्होंने बच्चों को बताया कि पढ़ते समय हमें अपनी तीनों ज्ञान बिंदुओं का प्रयोग करना चाहिए देखना सुनना व लिखना। किसी भी कार्य को करने के लिए 9 क्षमताओं  से जो करते हैं दिमाग, सही भाषा, ज्ञान ,लोगों से संपर्क, कुदरत, क्षमता ,संगीत ,ग्रंथों का ज्ञान व समझ। उन्होंने बच्चों को उदाहरण देकर बताया कि वह किस प्रकार पढ़ने की क्षमता को बढ़ा सकते हैं और किस प्रकार स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को हम कुदरती नुस्खे से दूर कर सकते हैं। सोमन मैनी जी से अध्यापकों व बच्चों ने प्रश्न पूछे जिसका उत्तर डॉ सोमन मैनी जी ने उदाहरण देकर समझाएं। उन्होंने यह   कौन सी ट्रेनभी कहा कि हमें किसी भी कार्य को बोझ समझकर नहीं करना चाहिए बल्कि उसे समझ  कर करना चाहिए जिससे वह आसान हो जाए। उन्होंने यह भी बताया कि हमें किसी चीज को समझने के लिए उससे भावनात्मक रूप से जुड़ना पड़ता है। तभी हम सही मायने में उसका अर्थ समझ सकते हैं।

उन्होंने फिजियोथैरेपी के बारे में बताते हुए कहा की फिजियोथेरेपी यूं तो आधुनिक चिकित्सा पद्धति मानी जाती है लेकिन भारत में सदियों से चले आ रहे मालिश व कसरत के नुस्खो को मिलाजुला रूप है ।मानसिक तनाव घुटनों पीठ जा कमर से दर्द जैसे कई रोगों से बचने जाने के लिए बिना दवा खाए जा चीरा लगवाए फिजियोथेरेपी एक असरदार तरीका है।

मौजूदा समय में अधिकांश लोग दवाइयों के झंझट से बचने के लिए फिजियोथेरेपी की ओर रुख कर रहे हैं क्योंकि यह न केवल कम खर्चीला होता है बल्कि इसके दुष्प्रभाव की आशंका ना के बराबर होती है। इस कार्यशाला की स्कूल के चेयरमैन श्री धनपत सियाग जी वाइस चेयरमैन श्री सीताराम शर्मा जी मैनेजर श्री विक्रम गर्ग जी जी ने सराहना की।

स्कूल के प्रधानाचार्य श्रीमती किरण टीना जी ने डॉक्टर सोमन मैनी जी का धन्यवाद किया और उनको सम्मानित चिन्ह भेंट किया।

श्री रोशनलाल जैन सर्वहितकारी विद्या मंदिर की नई ब्रांच सर्वहितकारी विद्या मंदिर बल्लू आना का उद्घाटन

श्री रोशनलाल जैन सर्वहितकारी विद्या मंदिर की नई ब्रांच सर्वहितकारी विद्या मंदिर बल्लू आना का उद्घाटन आज 15-3-2021 को किया गया। यह ब्रांच लगभग 2 कनाल जगह में बनाई गई जिसमें 5 कमरे ,खुला ब्रांडा व खेल के मैदान शामिल है। आज उद्घाटन में मुक्तसर विभाग के अध्यक्ष और प्रांत के कार्य कर्णी श्री  परसोत्तम चुघ सर जी, बरीवाला सर्वहितकारी विद्या मंदिर स्कूल के अध्यक्ष श्री शशिकांत आहूजा जी, विभाग सचिव व मुक्तसर एसवीएम स्कूल के प्रिंसिपल श्री पूर्ण  चंद जी, मलोट एसवीएम स्कूल के प्रिंसिपल श्री पुनीत जी व श्री रोशनलाल जैन सर्व हितकारी विद्या मंदिर के चेयरमैन श्री धनपत सियाग जी मैनेजर श्री सीताराम शर्मा जी और कमेटी के मेंबर श्री जेत कन्वर जी और स्कूल के प्रिंसिपल श्रीमती किरण टीना जी उपस्थित रहे। स्कूल में लगभग 100 की संख्या में अभिभावक आए और उन्होंने ने दाखिले के बारे में पूछा और कहा कि वह जल्द ही इस स्कूल में अपने बच्चों के एडमिशन करवाएंगे। स्कूल प्री नर्सरी से दूसरी कक्षा तक शुरू किया गया है। स्कूल का लक्ष्य है कि लगभग 100 के करीब विद्यार्थी हो और आने वाले सालों में एक-एक करके कक्षा बढ़ाई जाएगी।